फेसबुक हैश टैग - क्या होंगे अलग हट के?

फेसबुक हैश टैग - क्या होंगे अलग हट के?

फेसबुक हैश टैग - क्या होंगे अलग हट के?


चेहरों की किताब पर # का ठप्पा

पिछले दिनों फेसबुक ने हैश टैग को अपनी सेवाओं में सम्मिलित करने की घोषणा की. ट्विटर (और गूगल+) का उपयोग करने वाले हैश टैग्‌स की महिमा से भली भांति परिचित है. तो फेसबुक पर कुछ अलग हट के होगा? या ये कदम नकल में अकल के अभाव का पर्याय सिद्ध होगा?

कुछ फर्क नज़र तो आ रहा है. और इसीलिए आगे भी अच्छी ही उम्मीद है.

सर्वोपरि, हमारे काम की बात. फेसबुक हैश टैग हिंदी में भी काम कर रहे है. ट्विटर की कुछ 'थर्ड पार्टी एप्पलिकेशंस' भले ही थोड़ा बहुत 'सपोर्ट' देती हों, पर ट्विटर की वेबसाइट पर अंग्रेज़ी हैश टैग की तरह हिंदी के शब्द लिंक (चटका लगाने योग्य) नहीं बनते. और न ही खोज (सर्च) के समय पूरा* हैश टैग मिलाया जाता है.

फेसबुक में हिंदी हैश टैग लिंक भी बन रहे हैं, और सर्च परिणाम में भी मिलान सही है. तो हम और आप इस तरह फेसबुक हैश टैग्‌स को उपयोग कर सकते हैं -

मुद्दे की बात को "हाइलाइट" करें.

हैश टैग से अपने पोस्ट में खास शब्दों को चिन्हांकित कर आप अपनी पोस्ट का विषय को एक झलक में ही विदित करवा सकते हैं.

छंटनी - स्वयं और दूसरों हेतु

अाप कई विभिन्न विषयों पर अपने विचारों को व्यक्त करते हैं. हैश टैग का उपयोग कर आप अपनी पोस्ट को एक विषय के लिए अंकित कर सकते हैं, (जैसे #राजनीति) जिससे बाद में कभी भी यदि आप facebook.com/hashtag/राजनीति पर जाएं, तो इस एक विषय पर अपने व दूसरों के विचारों का लेखाजोखा ले सकते हैं.

फेसबुक मित्रों के अलावा

यदि आपकी पोस्ट की 'प्राइवेसी सेटिंग' 'पब्लिक' है, तो अब आप अपने मित्रों के अलावा भी पाठकों तक पहुंच सकेंगे, जिन्हें उस विषय में दिलचस्पी हो. ये फेसबुक पर आपका अनुसरण करने वालों की संख्या में बढ़त में सहायक हो सकता है.

आपका अपना "स्थायी स्तंभ"

एक अलग हैश टैग चुनिए, जैसे, _की_कलम_से. और फेसबुक पर अपना नया छोटा कॉलम शुरू कीजिए, आपका अपना स्थायी स्तंभ - नियमित रूप से प्रविष्टियां डालिए - और पाठकगण खुद चुनिए. आपके मित्र, या केवल मित्र तथा मित्रों के मित्र, या कुछ चुनिंदा मित्र, या सारा फेसबुक जगत.

सारांश

फेसबुक हैश टैग हाल ही में ज़रूर आए हैँ, पर कुछ अपनी गोपनीयता चुनाव 'सेटिंग्‌स' के कारण, और कुछ हमारी भाषा के 'सपोर्ट' के कारण, जरा अलग हट के तो लग रहे हैं. हो सकता है, कि आने वाले दिनों में, और भी उपयोगी 'फीचर्स' सम्मिलित हो जाएं.

तो आप भी हैश टैग्‌स का सार्थक उपयोग करें, और आनंद-लाभ उठाएं.

------
*उदाहरण के लिए, यदि आप अंग्रेज़ी में #poetry खोजें तो ट्विटर खोज के समय हैश टैग सहित पूरे शब्द के मिलान वाले ट्वीट्स खोज परिणाम में दिखाए जाएंगे. लेकिन हिंदी (देवनागरी) के हैश टैग में थोड़े मिलते जुलते शब्द भी पारित हो जाएंगे. आप ढूंढेंगे #शायरी और पाएंगे #शेयर मार्केट से जुड़े ट्वीट. अब इसे अर्थ का अनर्थ कहूँ, या शायराना मिज़ाज का सर्वनाश!

© 2013, UV Associates
All rights reserved